नवीनतम घोषणाएं...
अधिक घोषणाएं
 
प्राचार्य की ओर से...
 
डा. गया रविदास
प्राचार्य
प्राचार्य का संदेश

शिक्षा का मन्दिर केन्द्रीय विद्यालाय, सुकना की स्थापना १९७७ मे कोलकाता संभाग में हुई थी। यह विद्यालाय स्वायत्त संस्थान केन्द्रीय विद्यालाय संगठन के अन्तर्गत मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन है। इस विद्यालाय की स्थापना गुणवतापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए की गयी थी।

इस विद्यालाय का उद्देश्य छात्रों की उत्तम प्रतिभा का विकास करना और समसामयिक विश्व की चुनौतियों का सामना करने योग्य बनाना, स्वास्थ के प्रति जागरुक रहना और आत्मअनुशासन सिखाना है।

इस विद्यालाय में कक्षा १ से १० तक तीन - तीन कक्षायें हैं साथ ही ११ और १२ की कक्षाओं में विज्ञान और कला वर्ग का विशेष प्रबन्ध है। विद्यालाय के सभी शिक्षकगण अपने विषय मे प्रवीण हैं और आधुनिक शिक्षण के सिद्धान्तो से अकात है। विद्यालाय में शिक्षण कक्ष, आधुनिक खेल के मैदान, प्रयोगशालयें और कार्यशालायें तथा प्रदूषण मुक्त वातावरण है।

विद्यालय में संगणक प्रयोगशालयें कार्यरत हैं जिनके माध्यम से संगणक विज्ञान की और संगणक संचार की शिक्षा प्रदान की जाती है। विद्यालाय का उद्देश्य छात्रों का सतत व्यापक मूल्यांकन के माध्यम से छात्रों का सर्वागिंक विकास करना है।

छात्रों को विद्यालय में विद्यालयी स्तर, संभागीय स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर पाठ्य सहगामी क्रियाओं में भाग लेने के पर्याप्त अवसर दिए जाते हैं। विद्यालय में १८००० पुस्तकों से सुसज्जित पुस्तकालय है जिसमें उत्तम फर्नीचर की व्यवस्था है।

विद्यालय के विद्यार्थियों की साल मे दो बार स्वास्थ्य जाँच की जाती है। इसके अलावा मनोरंजनपूर्ण, ज्ञानपूर्ण भ्रमण हेतु छात्रों को ले जाया जाता है। शिक्षक - अभिभावक संघ की बैठक बार - बार बुलाई जाती है। धीमे गति से सीखने वाले छात्रों के लिए अतिरिक्त कक्षाए विद्यालाय में शिक्षकों द्वारा चलाई जाती है। विद्यालय में इंटरनेट सुविधा उपलब्ध है और छात्र इस सुविधा का लाभ अपने ज्ञानवर्धन के लिए बराबर उठाते हैं।

 
अभिभावको और अन्य आगंतुकों से मुलाक़ात का समय :
सुबह 1000 बजे से 1100 बजे (सोमवार - शनिवार)
 
 
नोटिश बोर्ड...
टेंडर नोटिस
 
फोटो गैलरी...
 
Dr. Gaya Ravidas
PRINCIPAL
फोटो गैलरी...
 आज का शुभ विचार : 
 
  घोषणाएँ
 
  डाउनलोड
 
  वीडियो
 
  अंतिम अद्यतन::
आज :
 
-: आपकी आगंतुक संख्या  है :-